राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना


राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का निर्माण राजस्थान सरकार ने राज्य के किसानों की विभिन्न रूप से सहायता करने के लिए बनाया है, इस योजना के अंतर्गत किसानों को आर्थिक मदद दी जाती हैं। हम सब इस बात से भलीभांति परिचित हैं कि किसानों का कार्य कितना कठिन होता है, फसल लगाने से ले कर के उसे मंडी तक पहुंचाने में एक किसान कितनी मेहनत करता है इसका कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कई बार ऐसा होता है कि खेत में काम करने के दौरान कह जहरीले जानवर किसान को काट लेते हैं तो वह बीमार पड़ जाती हैं और कुछ की तो मृत्यु तक हो जाती हैं। राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के अंतर्गत यदि किसी व्यक्ति यानी किसान को खेती या मंडी आने या जाने के समय किसी भी प्रकार का दुर्घटना हो जाता है, तो उस स्थिति में उस किसान को योजना के लाभ के रूप में ₹5000 से लेकर ₹200000 तक की आर्थिक मदद दी जाती है।

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना

राजस्थान सरकार किसानों के हित में नई योजनाएं लेकर आ रही है, राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना कोई नई योजना नहीं है इसे सर्वप्रथम 30 अगस्त 1984 को लांच किया गया था। जिसके बाद इस योजना का नाम कई बार बदला गया है, यदि आप मैं एक किसान हैं और आप राजस्थान के मूल निवासी हैं और इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो हम आपको यहां बता दें कि इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको किसान साथी पोर्टल पर जाना होगा। योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन केवल वह व्यक्ति ही कर सकते हैं जिनके पास सभी मुख्य दस्तावेज हो। राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए कोई भी ऑनलाइन एप्लीकेशन सी नहीं दी जाती है इसमें आप बिल्कुल मुफ्त में आवेदन कर सकते हैं, इस योजना का लाभ केवल वह व्यक्ति ही उठा सकता है जिन्हें उसने पहले से ऑनलाइन आवेदन कर रखा हो।

योजना के अंतर्गत विभिन्न स्थितियों में विभिन्न सहायता राशि प्रदान की जाती है, हाथ पैर टूटने या किसी अन्य प्रकार की घटना होने पर सहायता राशि अलग है और किसी की मृत्यु हो जाने पर‌ सहायता राशि अलग है। यदि किसी व्यक्ति में इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन पहले से कर रखा होगा और फिर उसके पश्चात उस व्यक्ति के साथ कोई घटना हो जाती है तो वह व्यक्ति इस योजना के अंतर्गत स्थिति के अनुसार योजना का लाभ उठा सकता है। यदि कोई किसान खेत में काम कर रहा है और उसे किसी जानवर में चोट पहुंचा दिया हो या फिर किसी जहरीले जानवर ने काट लिया हो तो उस स्थिति में भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन को लाख की राशि प्रदान की जाती है। यदि आपने अभी तक इस योजना के अंदर ऑनलाइन आवेदन नहीं किया है तो हम बता दें कि इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने की पूरी जानकारी हमने इस लेख में नीचे दी है।

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना का लाभ

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना के अंतर्गत विभिन्न घटनाओं पर विभिन्न प्रकार की राशि प्रदान की जाती है जिन की सूची हमने नीचे दे रखी है आप नीचे दिए गए जानकारियों को पढ़कर या जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कि किस स्थिति में एक आवेदन कर्ता को कितनी सहायता राशि प्राप्त होती है।

  • यदि किसी मंडी में कार्य कर रहे मजदूर को किसी भी घटना के कारण हाथ या पैर में फ्रैक्चर आता है तो उसी स्थिति में उस मजदूर ने यदि पहले से आवेदन कर रखा होगा तो उसे ₹50000 की सहायता राशि प्रदान की जाएगी।
  • खेती या फिर मंडी के किसी कार्य के कारण किसी तरीके से आवेदक की उंगली कट जाए तो उस स्थिति में उसे ₹5000 की सहायता राशि दी जाती है।
  • खेतिया मंडी के किसी कार्य में किसी दुर्घटना के कारण एक उंगली के जगा दो उंगली कट जाए तो ₹10000 3 कट जाए तो ₹15000 चार कट जाए तो ₹20000 की सहायता राशि दी जाती है।
  • किसी दुर्घटना की स्थिति में यदि आवेदक का एक हाथ एक पैर या एक आंख पूर्ण रूप से भांग पड़ जाए तो उस स्थिति में ₹25000 की सहायता राशि दी जाती है।
  • यदि दुर्घटना की स्थिति में आवेदक की रीढ़ की हड्डी टूट जाए या फिर उसके सर पर टोटा है तो उस स्थिति में उसे ₹50000 की सहयोग राशि दी जाती है। 
  • यदि किसी दुर्घटना की स्थिति में किसान का दोनों आंख दोनों पैर याद दोनों हाथ संपूर्ण रूप से भंग हो जाए तो उस हिंदी में आवेदक को ₹50000 की सहयोग राशि दी जाती है।
  • खेत में काम करते समय यदि कोई जंगली जानवर या कोई जहरीला जानवर काट ले या फिर मंडी जाते समय या मंडी से लौटते समय किसी दुर्घटना के कारण आवेदक की मौत हो जाए तो उस स्थिति में आवेदक के परिवार को सहयोग राशि के रूप में ₹200000 दिए जाते हैं।

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना में ऑनलाइन आवेदन करने की संपूर्ण नीचे रहती हैं आप उसे ध्यानपूर्वक पढ़ें और यह जानकारी प्राप्त करें कि आप इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करके इस योजना का लाभ कैसे उठा सकते हैं।

  • राजीव गांधी के साथ की सहायता योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको कृषक साथी पोर्टल (rajkisan.rajasthan.gov.in/) पर जाना होगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर आपको  किसान/नागरिक लॉग इन ऑप्शन दिखाई देगा आप इस ऑप्शन पर क्लिक करके दूसरे पेज पर जाएं।
  • दूसरे वेब पेज पर राजीव गांधी किसान साथी योजना एक विकल्प दिखाई देगा इस विकल्प पर क्लिक करें।
  • यहां आपको अपना आधार कार्ड नंबर एवं आठवीं जानकारियां भर कर के अपना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करना होगा।

ऊपर दी गई जानकारियां पढ़ने के बाद आपको राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना अधिकांश जानकारियां प्राप्त हो चुकी हो चुकी होगी, आप इस योजना के संबंध में आने जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो अभी आप ऑफिशल वेबसाइट पर जाएं और इस योजना के संबंध

Leave a Comment